Connect with us

India

नहीं मिली है किसान सम्मान निधि, तो इस हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल

Published

on

नहीं मिली है किसान सम्मान निधि, तो इस हेल्पलाइन नंबर पर करें कॉल

वर्ष 2019 में भारत सरकार ने देश में किसानों की हालत में सुधार लाने के लिए किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की थी, जिसके तहत किसान परिवार को साल में तीन किश्तों में छह हजार रुपये दिए जाने थे। अब तक इस स्कीम के जरिए देश दस करोड़ नौ लाख किसानों को फायदा मिल चुका है।

केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक किसान सम्मान निधि योजना के तहत चार करोड़ 40 लाख किसानों को और मदद दी जानी है। अधिकारियों ने बताया कि जिन किसानों को अभी तक इस स्कीम का लाभ नहीं मिला है या तो उनके बैंक खाते या आधार कार्ड में कुछ गड़बड़ी है या फिर उनका आधार कार्ड लिंक नहीं है।

अगर आप किसान हैं और आपके खाते में अभी तक किसान सम्मान निधि का पैसा नहीं आया है तो अब इसे आप खुद चेक कर सकते हैं कि आपके खाते में दो हजार रुपये की किश्त आई है या नहीं।

केंद्र सरकार ने देश के सभी 14.5 करोड़ किसानों को इस स्कीम के जरिए फायदा पहुंचाने का लक्ष्य रखा था, लेकिन अभी स्कीम के जरिए इतने रजिस्ट्रेशन नहीं हुए हैं। इसलिए सरकार का कहना है कि जिस किसी बालिग व्यक्ति का नाम रेवेन्यू कार्ड में है वो खुद को स्कीम में रजिस्टर करवाकर स्कीम का फायदा उठा सकता है। इसका मतलब यह हुआ कि एक खेती के भूलेख पत्र पर अगर एक से ज्यादा बालिग व्यक्तियों के नाम दर्ज हैं तो हर व्यक्ति व्यक्तिगत तौर पर इस स्कीम का फायदा उठा सकता है। इसके लिए हर व्यक्ति का अलग से आधार-कार्ड और बैंक खाते की जानकारी चाहिए होगी।

अगर आपको तीन किश्तों में से कोई एक किस्त नहीं मिली है तो आप सरकार की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं और किश्त के बारे में जानकारी ले सकते हैं। ये हेल्पलाइन नंबर है 011-24300606, इसके अलावा सरकार ने कई और जरूरी नंबर भी साझा किए हैं ताकि अपनी धनराशि के बारे में किसान को जानकारी लेने में आसानी हो।

पीएम किसान टोल फ्री नंबर- 18001155266
पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर-155261
पीएम किसान लैंडलाइन नंबर- 011-23381092, 23382401
पीएम किसान हेल्पलाइन-  0120-6025109
ई-मेल आईडी- pmkisan-ict@gov.in

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत तीन किश्तों में किसान को धनराशि दी जाती है। किसानों को दी जाने वाली पहली किश्त एक दिसंबर से 31 मार्च तक दी जाती है, वहीं दूसरी किश्त के लिए सरकार ने एक अप्रैल से 31 जुलाई का समय रखा है और किसानों के खातों में तीसरी किश्त एक अगस्त से 30 नवंबर के बीच आती है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

Sports

Advertisement

Trending